Advertisement:
जांजगीर-चांपा

मीडिया कर्मियों को बचाते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर शहीद रुद्र प्रताप सिंह के प्रतिमा का किया गया अनावरण.. आंखे हुई नम, याद आई वो गीत..ऐसा था शहीद रूद्र प्रताप सिंह 

जांजगीर चाम्पा जिले के सोनसरी गाँव मे शहीद रूद्र प्रताप सिंह की याद मे जिला प्रशासन ने आज के दिन को यादगार बना दिया, वर्ष 2018 मे विधानसभा चुनाव के दौरान दंतेवाड़ा के अरनपुर थाना के नीलवाया घने जंगल ने नक्सली एम्बुस मे फंसे दूरदर्शन के मिडिया कर्मियों को बचाते हुए अपने प्राण की बलिदान देने वाले वीर एएसआई शहीद रूद्र प्रताप सिंह याद को चिर स्थाई बनाने के लिए सोनसरी गांव मे शहीद रूद्र प्रताप की आदम कद प्रतिमा का अनावरण किया गया,, प्रदेश के नगरी प्रशासन मंत्री शिव डहरिया अकलतरा विधायक सौरभ सिंह के साथ कलेक्टर और एस पी ने पूजा अर्चना कर शहीद रूद्र प्रताप सिंह की प्रतिमा का लोकार्पण किया।

 

जांजगीर चाम्पा जिले जे सोनसरी गाँव ने जन्मे रूद्र प्रताप सिंह को आज भी परिवार के साथ गाँव और क्षेत्र के लोगो ने साथ जिले के लोग सम्मान के साथ याद करते है,रूद्र प्रताप की साहस को आज भी गांव के लोग सम्मान के साथ याद करते है परिजनों और ग्रामीणों ने लगातार शहीद रूद्र प्रताप की प्रतिमा स्थापित करने की शासन से मांग की और 15 अगस्त को शासन मे मुलमुला और नरियरा गाँव के बीच सोनसरी चौंक मे प्रतिमा की स्थापना की,, वही अकलतरा विधायक सौरभ सिंह ने नगरी प्रशासन मंत्री के माध्यम राज्य सरकार से नेशनल हाइवे पर अकलतरा चौंक मे शहीद रूद्र प्रताप सिंह की प्रतिमा स्थापित करने की मांग की है।

शहीद रूद्र प्रताप सिंह की 11 साल की बेटी माहि सिंह को अपने पापा की याद आज भी आती है और उस पल को कभी नहीं भूल पा रही है जब पापा को तिरंगा ने लपेट कर घर लाया गया था, माही ने प्रदेश मे हो रहे नक्सली हिंसा पर रोक लगाने की मांग की और अपने पापा को साहसी बेटी ने ए वतन मेरे वतन आबाद रहे तू, गाना गा कर देश भक्ति का जज्बा दिखाया,वही मंत्री शिव डहरिया ने शहीदों की याद का बनाए रखने के लिए गाँव मे उनकी प्रतिमा स्थापित करने को सरकार की प्राथमिकता बताई, और शहीदों के विषय मे क्षेत्र के लोगो को उन्ही जीवन से सीख लेने का आह्वान किया।

 

सोनसरी गाँव के वीर सपूत शहीद रूद्र प्रताप सिंह की याद मे एक बार सब की आँखे नम हो गई वही अचानक मौसम मे बदलाव आया मानो प्रकृति भी रूद्र प्रताप के प्रतिम को देख कर अपनी आँखे नम कर लीं हो।

Related Articles

Back to top button