Advertisement:
जांजगीर-चांपा

जिला खनिज अधिकारी के सह पर हो रहा है खनिज माफिया सक्रिय, रेत घटो के बंद के बाद भी खनिज अधिकारी के सह पर निकल रहा अवैध खनन और परिवहन शासन को हो रही राजस्व का नुकसान

जांजगीर चांपा/ जिले में इन दिनों रेत गिट्टी ईट का अवैध कारोबार जोरो से चल रहा है। नदियों में रेत उत्खनन के बावजूद लगातार हसदेव नदी के पीथमपुर, केवा भादा,नवापारा से रेत का अवैध रूप से खुले आम उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है। ग्रामीणों की लगातार शिकायत के बावजूद अधिकारी चुप्पी साधे बैठे हुए हैं कार्यवाही के नाम पर केवल खाना पूर्ति किया जा रहा है। जिला के अधिकारी से मिली संरक्षण के कारण खनिज माफिया बेखौफ होकर रेत का अधिक रुपए में बेचना और भंडारण कर रख रहे है।

 

जिले में खनिज विभाग कार्यवाही के नाम पर केवल खाना पूर्ति कर रही है। जिससे सरकार को राजस्व का नुकसान झेलना पड़ा रहा है। वही खनिज अधिकारी अपनी जेब भरने में लगे हुए हैं। आज बुधवार को सुबह खनिज के 4 से 5 वाहन में कार्यवाही करने भादा रेत घाट की ओर पहुंचे हुए थे। जहा रेत घाट से ट्रैक्टर ट्राली में चालक बिना रायलटी के रेत लेकर 7 से 10 गाड़ी आ रही थी। सभी ट्रैक्टर वाहनों को रास्ते में रोकवाकर चेकिंग की गई जिसमे सभी वाहन बिना रियल्टी के रेत लेकर आना मिलने पर कार्यवाही की गई। मगर सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार,केवल 3 ट्रेक्टर वाहन को पकड़ कर कलेक्ट्रेट परिसर लाया गया। बाकी बचे वाहनों को रास्ते में ही रोक लिया गया। उन वाहनों का क्या किया गया है अब तक पता नहीं चल पाया है। एसे में अनुमान लगाया जा सकता है की उन वाहनों के चालको से पैसा लेकर रास्ते से छोड़ दिया गया होगा।

Related Articles

Back to top button