Advertisement:
छत्तीसगढ़

जांजगीर चांपा जिले में हुए 5 लोगो की मौत,,,खूनी रिंग कुएं की कहानी,, कैसे एक एक कर हुई मौत,,पढ़िए पूरी खबर….

जांजगीर चांपा जिले में हुए 5 लोगो की मौत,,,खूनी रिंग कुएं की कहानी,, कैसे एक एक कर हुई मौत,,पढ़िए पूरी खबर….

पिता और 2 बेटे के शव के पर परिजनों का रोता हुआ परिवार….

जांजगीर चांपा जिले के बिर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम किकिरदा की एक घर के बाड़ी में बने रिंग कुएं की कहानी है। जिसमे एक एक कर के पांच लोग जिसमे पिता और 2 बेटो ने दम तोड़ दिया।। जिसमे घर मालिक रामचंद्र जायसवाल 60 वर्ष जोकि अपने घर के बाड़ी में बनाए 31 फिट रिंग कुएं के पास गया हुआ था बीती रात हुए तेज बारिश और आंधी तूफान से ढके हुए रिंग कुएं का एक लकड़ी की (पटनी) कुएं में गिरा हुआ था अगल बगल में नींबू और बिही के पेड़ लगे थे। वही करबीन 4 माह पहले घर में बोर कराया गया था। जिसके बाद रिंग वाले कुएं से पीने के लिए घर के लोगो ने पानी का उपयोग करना बंद कर दिया और उसमे कोई पेड़ का पत्ते का कचड़ा न गिरे इस वजह से बचाने पूरी तरह से रिंग कुएं को लकड़ी के (पटनी) से उसे ढक दिया गया था। आज शुक्रवार सुबह 7.30 बजे राम चंद्र जायसवाल कुएं के पास पहुंचा और देखा की एक पटनी गिरा हुआ है। जिसे निकलने के लिए कुएं के अंदर बने लोहे की छोटी छोटी सीढ़ी के सहारे नीचे उतरा इस बीच वह समझता की बेहोशी की हालत में 31 फिट नीचे कुएं के पानी में गिर गया। कुछ देर बाद जब रामचंद्र जायसवाल बाहर नहीं आय तो उसकी पत्नी कुएं के पास पहुंची और देखते ही बचने के लिए चीखने लगी। इस चीख की आवाज को सुन रामचंद्र जायसवाल के सामने रहने वाले रमेश पटेल 50 वर्ष अपने दो बेटे जितेंद्र पटेल 25 वर्ष, राजेंद्र पटेल 20 वर्ष कुएं के पास मौके पर पहुंचे। इस दौरान रमेश पटेल अपने पड़ोसी को बचाने के लिए कुएं के अंदर गया मगर वह भी कुएं में ही गिर पड़ा,यह सब देख उसके दोनो बेटे भी बारी बारी से नीचे उतरने लगे मगर कुछ समझ पाते क्या हुआ है दोनो भी कुएं के अंदर गिर पड़े,वही एक और पड़ोसी टिकेश्वर चंद्रा 27 वर्ष और गांव का एक व्यक्ति भी पहुंचा हुआ था। जिसमे टिकेश्वर चंद्रा बचाने के लिए नीचे उतरा वही एक व्यक्ति और उसके पीछे पीछे उतरने लगा मगर उसका सास नही मिलने पर वापस ऊपर आ गया और टिकेश्वर चंद्रा को भी ऊपर आने को बोला मगर वह ऊपर नही जाने और सब को बचाने की बात कहते हुए नीचे चला गया मगर वह भी बचाने में सफल नहीं हुआ और कुएं में वह भी गिर गया। सभी लोग बारी बारी से कुएं के अंदर समा गए। घटना की जानकारी बिर्रा पुलिस को सूचना दी गई। मौके पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची और जांजगीर से गोताखोर की टीम पहुंची मगर उनकी हिम्मत नही हुई एसपी विवेक शुक्ला ने कहा की ऑक्सीजन मास्क नही था और कुएं से जहरीली गैस का रिसाव था। बिलासपुर से एसडीआरएफ की टीम बुलाई गई थी।

बिलासपुर से पहुंची 12.30 बजे एसडीआरएफ की टीम,,1 घंटे तक चला शव को निकलने की कवायद…

घटना की जानकारी बिलासपुर के एसडीआरएफ की टीम को सूचना दी गई,दोपहर 12.30 बजे करीबन टीम पहुंची। टीम अपने साथ 4 ऑक्सीजन गैस सिलेंडर मस्का,मशीन लेकर पहुंची। रिंग कुएं को जांच के बाद रस्सी और काटे वाली उपकरण के सहारे 1 घंटे के अंदर कुएं से शव को बाहर निकाला गया। मौके पर ही डॉक्टर की टीम थे जो की शव को बाहर निकले के बाद शव का परिक्षण कर सभी को मृत घोषित कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। जहा पांचों के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया।
……………………………..
पिता और 2 बेटे की मौत से परिवार में दुखो का पहाड़ा टूट पड़ा है बता जा रहा है की मृतक युवक जितेंद्र पटेल की शादी को हुए 2 साल हो रहा है उसका एक 5 माह का मासूम बच्चा है जिसके सर से पिता,दादा और चाचा का हाथ उठ चुका है। घर में केवल अब मृतक की पत्नी,मां और दादी और 5 माह का मासूम बच्चा बचा है। शव के पास बैठकर रो रोकर परिजनों का बुरा हाल हो चुका है। अब उसके घर में कमाने के लिए कोई पुरुष नही बचे। पिता और दोनो बेटो के शव को एक जगह में अंतिम संस्कार किया गया है ।

टिकेश्वर चंद्रा 27 वर्ष अपने घर में एक अकेले बेटा था जिसकी 3 माह पहले ही शादी हुई थी वही पिता की करंट में चिपकने से पहले ही मौत हो चुकी है। घर में वह अपने बहन मां और पत्नी के साथ रहता थे अकेला कमाने वाला पुरुष बचा था आज की हादसे से वह भी नही बच सका। मां बहन और पत्नी भी इस हादसे से सदमे में है एक बहन अपनी भाई को उठने और मां बेटा बेटा कहते हुए बिलख बिलख कर रो रही थी। यह मंजर मानो एक दुख का पहाड़ था।

रामचंद्र जायसवाल 60 वर्ष जोकि खेती किसानी और घर में बाड़ी लाकर जीवन यापन करता था बड़ा बेटा रायगढ़ में काम करता था वही छोटा बेटा घर में रहता था। अपने पिता के साथ खेती किसानी में हाथ बटाया करता था।

                  शव के पास परिजन….

छत्तीसगढ़ के सीएम ने की 5 -5 लाख रुपए मुआवजे की घोषणा, सोसल मीडिया X पर जताया दुःख…

छत्तीसगढ़ के सीएम विष्णुदेव साय ने अपने सोसल मीडिया X पर लिखा की किकिरदा गांव में हुए कुएं में गिरने से 5 लोगो की मौत बड़ी दुखद घटना है। ईश्वर उनके परिवार को इस दुःख की घड़ी में हौसला प्रदान करे। वही मृतकों के परिजनों को 5- 5 लाख रु सहायता के रूप में देने की बता कही है।

सक्ति जिले के कलेक्टर विकास कुमार तोपनो ने कहा की,मृतक के परिजनों को आर्थिक सहायता की मदद की जाएगी तत्काल सहायता राशि प्रदान की जाएगी और आकस्मिक मृत्यु के 4 -4 लाख रु भी दी जाएगी।।

Related Articles

Back to top button